कनखल हरिद्वार

कनखल हरिद्वार की प्राचीन धरोहर – एक अप्रतिम अनुभव

कनखल कदाचित हरिद्वार का प्राचीनतम निवासित क्षेत्र है। यहाँ के मंदिरों एवं गंगा के घाटों पर अब भी शिव एवं सती की गाथाएँ जीवित हैं। मेरी हरिद्वार यात्रा के समय, हरिद्वार की इस प्राचीन...
गाँधी जी रेल से यात्रा करते थे

महात्मा गाँधी स्मारक – भारत भर में फैले उनके घर, आश्रम, कारावास

0
कल्पना कीजिए यदि महात्मा गाँधी स्वयं आपको अपने जीवन के महत्वपूर्ण स्थानों पर ले जाना चाहें तो वे आपको कहाँ कहाँ ले जाएंगे? महात्मा गाँधी ने अपने जीवनकाल में अनेक यात्राएं की थी। आज...
लद्धाख का स्पितुक मठ

लद्दाख के स्पितुक बौद्ध मठ का रहस्यमयी चाम नृत्य

बौद्ध चाम नृत्य एक आनुष्ठानिक नृत्य है। हिमालयीन क्षेत्रों, विशेषतः लद्दाख के विभिन्न बौद्ध मठों में इस उत्सव का आयोजन किया जाता है। प्रत्येक मठ अपने पञ्चांग के अनुसार भिन्न भिन्न दिवसों में इस...
मल्लिकार्जुन मंदिर काणकोण गोवा

गोवा कानकोण के मल्लिकार्जुन मंदिर का अनोखा शीर्षा रान्नी उत्सव

0
गोवा का मल्लिकार्जुन मंदिर, गोवा राज्य के दक्षिणतम जिले, कानकोण में स्थित है। यह लगभग गोवा एवं कर्नाटक की सीमा पर स्थित है। गोवा के अन्य मंदिरों के समान यह मंदिर भी अपने आप...
चुनरी मनोरथ अनुष्ठान मथुरा में यमुना नदी पर

चुनरी मनोरथ – मथुरा में यमुना जी का चुनरी ओढ़ना

श्री कृष्ण के काल को बहुधा इन तीन धरोहरों से जोड़ा जाता है, गोवर्धन पर्वत, ब्रज भूमि तथा यमुना नदी। यमुना नदी का श्याम वर्ण जल कृष्ण के श्याम वर्ण के समान है। यमुना उनकी...
संस्कृत श्लोकों में यात्रा विवरण

प्राचीन संस्कृत साहित्य में यात्रा से जुड़ी कहावतें अर्थ सहित

0
भारत में प्रायः यात्राओं एवं यात्रा अनुभवों का अत्यंत महत्व रहा है। संस्कृत साहित्य में यात्रा का उल्लेख मिलता है और कई यात्रा संबंधी कहावतें इसका जीवंत उदाहरण हैं। इनमें हमारे उन ऋषि-मुनियों की...
कोलाबा के गिरजाघर

मुंबई स्थित कोलाबा के गिरजाघर – इतिहास का एक पन्ना ये भी

0
कोलाबा के गिरजाघर मुझे देखने को मिले जब डेक्कन ओडिसी से वापस लौटते हुए मेरे पास मुंबई के दर्शनीय स्थलों की यात्रा के लिये एक दिन था।  मैं हमारे परिवार के मित्रों की आभारी...
गोलू देवता मंदिर अल्मोड़ा

चितई गोलू देवता कुमाऊँ अल्मोड़ा के न्याय देवता

गोलू देवता को उत्तराखंड राज्य के कुमाऊँ अर्थात् कूर्मांचल क्षेत्र में न्याय का देवता माना जाता है। भारत में यह प्रथा है कि यहाँ के लोग प्रत्येक वस्तु तथा वस्तुस्थिति में देव का अस्तित्व मानते...
त्रिंकोमाली श्री लंका

श्री लंका के पूर्वी भाग त्रिंकोमाली के दर्शनीय स्थल

श्री लंका के अनेक प्राचीन किन्तु अब भी जीवंत नगरों में से एक है त्रिंकोमाली। यह स्थान पर्यटकों में इतना प्रसिद्ध नहीं है जितना अनुराधापुरा एवं पोलोन्नरूवा जैसे श्री लंका के कुछ अन्य स्थल।...
मथुरा के पेड़े

ब्रजवासी का मथुरा पेड़ा- उत्कृष्ट पाककृति की एक झलक

मथुरा पेड़ा! आपने नाम तो सुना ही होगा। वस्तुतः इसे खाया भी होगा। अतः मथुरा पेड़ा का नाम सुनकर मुँह में पानी आना स्वाभाविक है, है ना? ऐसी ही एक और स्वादिष्ट मिठाई है...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

152,406FansLike
5,632FollowersFollow
828FollowersFollow
21,726FollowersFollow
8,650SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ