६४ योगिनी मंदिर हीरापुर ओडिशा

हीरापुर ओडिशा का चौसठ योगिनी मंदिर ९ वीं. सदी का अद्भुत माणिक्य

सभी चौसठ योगिनी मंदिर अत्यंत ही अनोखे एवं अद्भुत मंदिर हैं। बिना छत की गोलाकार संरचना व उन पर उत्कीर्णित योगिनियों की अद्भुत प्रतिमाएं इन्हे अद्वितीय व असाधारण बनाती हैं। मंदिर की इन विशेषताओं...
शेखावटी हवेलियाँ - राजस्थान

शेखावाटी हवेलियाँ और उनके भित्तिचित्र – राजस्थान की मुक्तांगण दीर्घा

0
राजस्थान का शेखावाटी क्षेत्र विश्व के विशालतम मुक्तांगण संग्रहालय के रूप में अत्यंत लोकप्रिय है। यहाँ की रंग-बिरंगी शेखावाटी हवेलियाँ अपनी उज्ज्वल एवं जीवंत चित्रकारी के लिए विश्वप्रसिद्ध हैं। इस क्षेत्र के अधिकतर नगर...
गोवा के कुर्डी गाँव का सोमेश्वर मंदिर

गोवा का भुतहा होता कुर्डी गाँव जो साल में ११ महीने जलमग्न रहता है

0
कुर्डी गाँव सन १९८३ तक एक जीता जागता गाँव था। तब से यह एक भूतिया गाँव बन के रह गया है। यह गाँव गोवा के सालावली बाँध के जल में वर्ष के लगभग ११...
माँ विंध्यवासिनी - विन्ध्याचल

विंध्याचल मीरजापुर के निकट माँ विंध्यवासिनी का पर्वतीय आवास

विंध्यवासिनी देवी का सीधा साधा सा अर्थ है विंध्य पर्वत पर निवास करने वाली देवी । विंध्याचल पर्वत श्रंखला भारत के सम्पूर्ण मध्य भाग में फैली हुई है। बिहार जैसे पूर्वी राज्यों से आरंभ...
Namaste

नमस्ते! जानिये अभिवादन के २० से अधिक प्रकार चौंक गये?

0
नमस्ते! इस संस्करण के आरम्भ का इससे उत्तम साधन और क्या हो सकता है! किसी भी स्थान में सर्वप्रथम जो आप सीखते हैं, वह है उस स्थान के अभिवादन की शैली। किसी भी स्थान में पहुँचने...

राहुल सांकृत्यायन रचित वोल्गा से गंगा – एक पुस्तक समीक्षा

श्री राहुल सांकृत्यायन द्वारा लिखित पुस्तक “वोल्गा से गंगा” एक महाकाव्य है। यह ६००० ई.पू. से लेकर १९४२ ई. तक की समयावधि में हुए मानव विकास का, सामान्य जनमानस की दृष्टी से अनुरेखण करता...
पहाड़ी शैली में राधा कृष्ण

रसिकप्रिया- कवि केशवदास कृत बुंदेली गीत गोविन्द

गीत गोविन्द के नाम से परिचित न हो ऐसा कोई मनुष्य विरले ही होगा। बारहवीं शती में जयदेव कवि द्वारा रचित यह ग्रन्थ श्रृंगार रस स्वरुप का परिचायक है। एक एक अष्टपदी में जिस प्रकार...
विभूति झरना

विभूति झरना, याना शिलाएं, मिर्जन दुर्ग- उत्तर कन्नड़ में सड़क यात्रा

उत्तर कन्नड़ भ्रमण के समय सिरसी से गोकर्ण की यात्रा करते हुए अधिकतर पर्यटक गोकर्ण के समुद्र तटों का आनंद उठाने हेतु इच्छुक रहते हैं। क्यों ना हों! गोकर्ण के समुद्र तट हैं ही...
पुष्कर तीर्थ राजस्थान

पुष्कर का ब्रम्हा मंदिर: भारत का एक प्राचीन तीर्थ स्थल

4
पुष्कर एक प्राचीन तीर्थ स्थल है जिसका उल्लेख भारतीय शास्त्रों के अनेक पौराणिक कथाओं में पाया जाता है। लोग तुरंत इसका संबंध सम्पूर्ण विश्व के इकलौते ब्रम्हा मंदिर की मिथ्या से जोड़ देते हैं।...
केरल की प्रसिद्द सर्प नौका दौड़

केरल की सर्प नौका दौड़ – अप्रवाही जल पर गति का तांडव

0
केरल की सर्प नौका दौड़ अर्थात स्नैक बोट रेस के विषय में मेरी प्रथम स्मृति मेरी पाठ्यक्रम पुस्तक से जुड़ी हुई है। मुझे स्मरण है, मैंने अपनी पुस्तक में सर्प के समान एक लंबी...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

151,707FansLike
6,729FollowersFollow
844FollowersFollow
22,586FollowersFollow
8,650SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ