तंजावुर स्थित बृहदीश्वर मंदिर

तंजौर उर्फ तंजावुर का विराट बृहदीश्वर मंदिर – एक विश्व धरोहर

अपने समय की विशालतम संरचनाओं में गिना जाने वाला तंजौर का बृहदीश्वर मंदिर दक्षिण भारत के मंदिरों की वास्तुकला का उत्तम प्रतीक है, तथा चोल राजवंशियों का प्रतिकात्मक मंदिर है। उनके द्वरा निर्मित अन्य...
सहस्त्रलिंग तलाव - पाटन गुजरात

सहस्त्रलिंग तलाव – एक प्राचीन विरासत, पाटण गुजरात

मंत्रमुग्ध कर देनेवाली रानी की वाव के ठीक पीछे सहस्त्रलिंग तलाव स्थित है। अगर आज भी यह संरचना अपने पूर्ण स्वरूप में होती तो रानी की वाव से अधिक शानदार हो न हो पर...
भानगढ़ दुर्ग - रत्नवती प्रासाद

भानगढ़ दुर्ग – भारत का सर्वाधिक भुतहा एवं डरावना स्थल

भानगढ़ दुर्ग – जब भी भारत के सबसे भुतहा स्थलों के सम्बन्ध में कहीं चर्चा हो तो इस दुर्ग का नाम अवश्य लिया जाता है। सूर्यास्त के उपरांत इस दुर्ग में प्रवेश करने वालों...
देवी के नाम पर पड़े इन भारतीय नगरों के नाम

५० भारतीय नगरों के नाम – देवी के नामों पर आधारित

कुछ समय पूर्व हमने अपने पाठकों से एक प्रश्न पूछा था इंडीटेलस के फेसबुक पृष्ठ तथा ट्विट्टर हत्थे पर। विषय था देवियों के नाम पर आधारित भारतीय नगर-नगरियों की सूची। प्रेषित करने से पूर्व...
कुचिपुड़ी नृत्य ग्राम - आन्ध्र प्रदेश

कुचिपुड़ी गाँव – आंध्र प्रदेश का प्राचीन नृत्य ग्राम

कुचिपुड़ी गाँव – आँध्रप्रदेश का एक ऐसा गाँव जिसने भारत के ७ प्रसिद्ध शास्त्रीय नृत्य शैलियों में से एक प्रसिद्ध नृत्य शैली को अपना नाम प्रदान किया। कुछ वर्ष पूर्व एक पत्रिका पढ़ने के...
असम चाय की ताज़ा पत्तियां

असम चाय के बागान – असम में घूमने की जगहें

असम चाय के बागानों को लेकर मेरे मन में एक बहुत ही औपनिवेशिक छवि बसी हुई है। अंग्रेजों द्वारा संचालित चाय के उद्यान जिनमें बड़े-बड़े बंगलों में वे रहा करते थे। तथा वहीं पर...
नई दिल्ली स्थित कमल मंदिर

देखिये भारतीय वास्तुकला के सर्वोत्तम अभियांत्रिकी अचम्भे

अभियांत्रिकी अचम्भे एवं भारत भ्रमण, इन दोनों को अब तक हमने क्या कभी जोड़कर देखा था। भारत देश की पहचान सदैव उसकी आध्यात्मिक, सांस्कृतिक एवं प्राकृतिक विरासत रही है। यह भी सनातन सत्य है...
जंगल सफारी भारत के राष्ट्रीय उद्यानों में

भारत में जंगल सफारी – कब, कहाँ, क्या और कैसे देखें?

क्या हमें भारत में जंगल सफारी करनी चाहिए? जी हाँ! भारत अब भी जैव विविधता का धनी है। इसका अनुभव प्राप्त करने के लिए जंगल सफारी से उत्तम अन्य कोई साधन नहीं है। प्रकृति...
शनिवार वाडा पुणे

पुणे की पेशवाई धरोहर – शनिवार वाड़ा , मंदिर और बाज़ार

एक समय था जब मैं पुणे के नारायण पेठ में रहती थी। अपनी भूली बिसरी यादों को फिर से ताज़ा करने की इच्छा हुई, इसलिए पिछले साल मैंने एक बार फिर पुणे के हवा...

हिमालय की ऊंचाइयों की उत्साहपूर्ण सवारी की साहस भरी कहानी

कहा जाता है कि अगर आप एक बार हिमालय गए तो फिर हिमालय आपको वापस बार-बार आपको अपनी और खींचता है। इसका आभास मुझे पिछले एक साल में हुआ। पिछले साल मैंने हिमाचल की...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

152,412FansLike
5,632FollowersFollow
828FollowersFollow
21,727FollowersFollow
8,650SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ