पञ्च क्रोशि यात्रा काशी खंड

पंचक्रोशी यात्रा – काशी खंड का प्राचीन तीर्थ मार्ग

चार साल पहले वाराणसी के दौरे के समय मुझे पहले-पहल पंचक्रोशी यात्रा के बारे में पता चला। बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के भारत कला भवन की दीवारों पे मैंने एक अनुपम नक्शा देखा था। इसके...
नाग वासुकी मंदिर - प्रयागराज के प्राचीन मंदिर

त्रिवेणी संगम की नगरी प्रयागराज के प्राचीन मंदिर

प्रयागराज के प्राचीन मंदिरों के विषय में प्रयागराज नगरी से बाहर कदाचित ही कोई जानता हो। हम प्रयागराज को त्रिवेणी संगम से ही अधिक जानते हैं। त्रिवेणी संगम अर्थात् गंगा, यमुना एवं सरस्वती का...
आगरा का सुप्रसिद्ध पेठा

आगरा पेठा – शहर की पारंपरिक स्वादिष्ट मिठाई

आगरा शहर मुख्य रूप से विश्व में स्थित सात अजूबों में से एक ' ताज महल ' के लिए विश्वप्रसिद्ध है। किन्तु इसके अलावा एक और चीज़ जिसके नाम से इस शहर की पहचान...
मथुरा के पेड़े

ब्रजवासी का मथुरा पेड़ा- उत्कृष्ट पाककृति की एक झलक

मथुरा पेड़ा! आपने नाम तो सुना ही होगा। वस्तुतः इसे खाया भी होगा। अतः मथुरा पेड़ा का नाम सुनकर मुँह में पानी आना स्वाभाविक है, है ना? ऐसी ही एक और स्वादिष्ट मिठाई है...
गंगा आरती दशाश्वमेध घाट वाराणसी

वाराणसी के दशाश्वमेध घाट में गंगा जी की दर्शनीय आरती

वाराणसी के दशाश्वमेध घाट में गंगाजी की आरती एक विलोभनीय दृश्य है। नदियों को पूजने की भारत की प्राचीन परंपरा को नवीनता प्रदान कर विभिन्न जन समुदायों को कैसे आकर्षित किया जाता है, गंगाजी...
Ashtabhuja Sanjhi in Vrindavan

सांझी कला – ब्रज वृंदावन की पारंपरिक अलंकरण कला

सांझी कला सांस्कृतिक रूप से धनी, ब्रज में प्रचलित अनेक कला क्षेत्रों में से एक है। भगवान कृष्ण से संबंधित सांस्कृतिक पृष्ठभूमि होने के फलस्वरूप ब्रज प्राचीन काल से ही विभिन्न लोक शैलियों का महत्वपूर्ण...

नैमिषारण्य – वेदों, पुराणों, सत्यनारायण कथा एवं ८८,००० ऋषियों की तपोभूमि

हम में से जिन्होने भी हिन्दू धर्मं ग्रन्थ पढ़े हों उनके समक्ष नैमिषारण्य, इस सुन्दर शब्द का उल्लेख कई बार आया होगा। नैमिषारण्य लखनऊ से लगभग ९० की.मी. दूर, सीतापुर जिले में गोमती नदी...
गोवर्धन पर्वत शिला

गोवर्धन परिक्रमा – वह पर्वत जिसे कृष्ण ने अपनी कनिष्ठिका पे उठाया था

गोवर्धन पर्वत, यमुना एवं ब्रज भूमि – केवल यही तीन मूल धरोहर कृष्ण के समय से अब तक अस्तित्व में हैं। कम से कम उस नाविक की दृष्टि में तो यही सनातन सत्य है...
तुलसी अखाड़े की कुश्ती

वाराणसी के तुलसी अखाड़े के पहलवानों की दिनचर्या

अखाड़ों के बारे में जानने की उत्सुकता मुझे हमेशा रही और कभी कोई अखाड़ा देख पाऊं यह इच्छा भी बहुत दिनों से थी। मेरी यह इच्छा पूर्ण हुई जब हाल ही की मेरी वाराणसी...
अयोध्या नगरी

अयोध्या – राम और रामायण की नगरी एक यात्रा परिदार्शिका

अयोध्या नगरी की यात्रा करने की अभिलाषा मुझे कई वर्षों से थी। अयोध्या नगरी, जहाँ भगवान् राम का जन्म हुआ, जहाँ महाकाव्य रामायण की शुरुवात हुई और जहाँ रामायण का समापन भी हुआ। अयोध्या...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

149,899FansLike
6,729FollowersFollow
920FollowersFollow
26,649FollowersFollow
8,650SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ