लक्ष्मी विलास महल की बाहरी दीवारों पर चित्रकारी

लक्ष्मी विलास महल – वड़ोदरा स्थित गायकवाड वंश की शोभा

0
वडोदरा की यात्रा पर जाते वक्त सबसे पहले आपको लक्ष्मी विलास महल के दर्शन करने के लिए जरूर कहा जाएगा। इस शहर में घूमते हुए हमने बहुत बार इस महल की कुछ-कुछ झलकियाँ जरूर...
गरबा डांडिया रास गीत

नवरात्रि उत्सव में सर्वोत्तम डांडिया रास एवं गरबा गीत

4
नवरात्रि अपने साथ में गरबा व डांडिया रास ले कर आती है। यूँ तो नवरात्रि देश भर में भिन्न भिन्न रीति से मनायी जाती है, किन्तु उनमें सर्वाधिक लोकप्रिय है पारंपरिक गुजराती नवरात्रि। अपने...
एकता की प्रतिमा गुजरात

एकता की प्रतिमा – लौह पुरुष सरदार पटेल को एक श्रद्धांजलि

नवीन युग की प्रतिमाओं में सर्वोत्तम मानी जानी वाली प्रतिमा निःसन्देह एकता की प्रतिमा अर्थात् स्टैचू ऑफ यूनिटी है। भव्य अधिरचना से युक्त, १८२ मीटर ऊंची यह अद्वितीय प्रतिमा विश्व की सर्वाधिक ऊंची प्रतिमा...
मूल द्वारका मंदिर परिसर प्रवेश द्वार

द्वारका गुजरात के आसपास बिखरे प्राचीन तीर्थ स्थान

4
स्कन्द पुराण के अनुसार द्वारका नगरी को ऐतिहासिक रूप से प्रभास क्षेत्र का ही एक भाग माना जाता है। प्रभास एक संस्कृत शब्द है जिसका अर्थ है, दीप्तिवान, ज्योतिर्मय, प्रकाशवान, अर्थात जो प्रकाश उत्पन्न...
द्वारका में गोमती संगम

गुजरात में श्री कृष्ण की स्वर्णिम द्वारका नगरी के १५ अद्भुत पर्यटक स्थल

द्वारका नगरी से कदाचित ही कोई अनभिज्ञ होगा। यह एक प्राचीन नगरी है जो पौराणिक कथाओं से परिपूर्ण है। द्वारका में आप जहां भी जाएँ, ये सब कथाएं आपके समक्ष पुनः पुनः सजीव होती...
अहमदाबाद का कालूराम स्वामीनारायण मंदिर

अहमदाबाद धरोहर यात्रा – प्राचीन नगर से एक परिचय 

दिल्ली और हैदराबाद की तरह अहमदाबाद में भी एक प्राचीन नगर बसा हुआ है, जो आज भी पुरातन काल के उसी दौर में जी रहा है। ये प्राचीन जगहें आपको वापिस पुराने जमाने में...
कीर्ति मंदिर - पोरबंदर गुजरात

पोरबंदर- सुदामा व गांधी की जन्मस्थली

पोरबंदर – यह शब्द मेरे कानों में सर्वप्रथम तब पड़ा जब प्राथमिक शाला में हमें महात्मा गांधी पर निबंध लिखने कहा गया था। पोरबंदर की तो छोड़िये, चंडीगड़ में पढ़ रही मुझ जैसी नन्ही...
प्राचीन रुक्मिणी मंदिर - द्वारका

रुक्मिणी मंदिर – द्वारका की रानी से एक साक्षात्कार

1
बालपन से ही हमने पढ़ा व सुना था कि श्री कृष्ण की पहली रानी रुक्मिणी थी। कहने का अर्थ है कि उन्होंने सर्वप्रथम रुक्मिणी से विवाह किया था। तत्पश्चात आयीं सत्यभामा, जाम्बवती तथा अन्य।...
द्वारकाधीश मंदिर - द्वारका

द्वारकाधीश मंदिर का वास्तुशिल्प- विलक्षण द्वारका की अद्भुत धरोहर

5
वो कहते हैं ना की द्वारका के सभी रास्ते द्वारकाधीश मंदिर की ओर जाते हैं। यह बांका ऊँचा मंदिर भारत के सुदूर पश्चिमी छोर पर स्थित है जहां गोमती नदी का अरब सागर से...
बेट द्वारका को ले जाती नावें

बेट द्वारका महाभारत की स्वर्णिम नगरी के दर्शनीय स्थल

11
कुछ दिनों पूर्व मुझे गुजरात के द्वारका की यात्रा का अनमोल अवसर प्राप्त हुआ था। मैंने इस अवसर का पूर्ण लाभ उठाने का निश्चय किया तथा बेट द्वारका को अपनी यात्रा कार्यक्रम में प्रथम...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

149,899FansLike
6,729FollowersFollow
920FollowersFollow
27,493FollowersFollow
14,844SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ