नंदा देवी डोली

नंदा देवी की राजजात यात्रा १२ वर्षों में एक बार हिमालय की और

0
ॐ हिमाद्रिका हिमांगिनी नगाधिराज वासिनी बिन्ध्य  नाम नंदजा नंदा कोट वासिनीम्। संस्कृतियों और परम्पराओं से सम्पन्न देवभूमि  उत्तराखंड की विरासत इतनी विशाल है कि उसे किसी भी लेखनी में समाहित नही किया जा सकता है। यहां...
कोटि तीर्थ गोकर्ण

गोकर्ण – कर्नाटक के प्राचीन तीर्थ एवं पर्यटक स्थल

0
अप्रतिम सौंदर्य से परिपूर्ण, भारत के पश्चिमी तट पर स्थित गोकर्ण एक प्राचीन तीर्थ क्षेत्र है। यह एक ओर समुद्र तथा तीन ओर पर्वतों से घिरा हुआ है। पुराणों में इस स्थान का उल्लेख...
हिमाचल की मनोरम स्पिति घाटी

काज़ा, लान्ग्जा एवं रंग्रिक – स्पीति घाटी के मनमोहक बौद्ध गाँव

0
गत वर्ष, हमारे हिमाचल के स्पीति घाटी भ्रमण के समय हम नाको, ताबो एवं धनकर गाँवों की यात्रा के पश्चात काज़ा पहुँचे थे। घुमावदार एवं ऊबड़-खाबड़ मार्गों पर धीमी गति से गाड़ी चलाते हुए...
गरबा डांडिया रास गीत

नवरात्रि उत्सव में सर्वोत्तम डांडिया रास एवं गरबा गीत

4
नवरात्रि अपने साथ में गरबा व डांडिया रास ले कर आती है। यूँ तो नवरात्रि देश भर में भिन्न भिन्न रीति से मनायी जाती है, किन्तु उनमें सर्वाधिक लोकप्रिय है पारंपरिक गुजराती नवरात्रि। अपने...
कांचीपुरम की प्रसिद्द रेशमी साड़ियाँ

कांचीपुरम की प्रसिद्ध कांजीवरम साड़ियाँ कहाँ से खरीदें?

0
कांचीपुरम, यह नाम लेते ही विविध रंगों में चित्तरंजक कांजीवरम साड़ियों का स्मरण हो आता है। कांजीवरम साड़ियों का नाम लेते ही मेरी सभी सखियों की आँखें चमक गयी होंगीं। कांचीपुरम भले ही सुन्दर...

सप्तमातृका – दंत कथाएं, इतिहास एवं प्रतिमा विज्ञान

0
सप्तमातृका, अर्थात् सात माताएं! आपने अनेक मंदिरों में सप्तमातृकाओं के दर्शन किए होंगे। किन्तु केवल सप्तमातृकाओं को समर्पित मंदिर क्वचित ही देखे होंगे। अधिकतर वे मंदिरों का एक भाग होती हैं। सात माताओं को...
राधा कृष्ण लीला मथुरा

मथुरा के प्राचीन मंदिर, घाट, संग्रहालय एवं स्वादिष्ट व्यंजन

0
मधुपुरी! जी हाँ, मथुरा किसी समय इसी नाम से जाना जाता था। यमुना नदी के तट पर बसा मथुरा, भारत के प्राचीनतम, सर्वाधिक महत्वपूर्ण व सर्वाधिक लोकप्रिय नगरों में से एक है। मथुरा नगर का...
कोणार्क सूर्य मंदिर - कलिंग मंदिर वास्तुशैली का उत्कृष्ट उदहारण

कलिंग नागर स्थापत्य शैली – रेखा देउल, पीढ देउल, खाखरा देउल

0
मंदिर स्थापत्य की जो नागर शैली ओडिशा से सम्बंधित रखती है, उसे कलिंग नागर शैली कहते हैं। नागर शैली का प्रयोग सामान्यतः उत्तर भारत मंदिर वास्तुकला में किया गया है। मंदिर स्थापत्य में नागर शैली...
भारत के देशभक्ति गीत

चिरकालीन उर्जा से ओतप्रोत भारत के देशभक्ति गीत

2
१५ अगस्त का स्वतंत्रता दिवस हो अथवा २६ जनवरी का गणतंत्र दिवस, हमारा देश देशभक्ति गीतों से गूंजने लगता है। सार्वजनिक सभा हो या निजी उत्सव, घर हो या बस्ती, रेडियो हो या दूरदर्शन,...
फतेहपुर की फ्रांसिसी हवेली पर गज चित्रण

मंडावा एवं फतेहपुर – शेखावाटी पर्यटन केंद्र के आकर्षण

0
राजस्थान के शेखावाटी क्षेत्र का सर्वाधिक लोकप्रिय नगर है, मंडावा। विश्व भर से आये पर्यटकों की चहल-पहल से भरा यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह उन विशेष स्थलों में से एक हैं जहां...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

149,899FansLike
6,729FollowersFollow
916FollowersFollow
26,013FollowersFollow
8,650SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ