संत कबीर

संत कबीर का काव्य, भक्ति, दर्शन और जीवन परिचय

संत कबीर १५ वीं. शताब्दी के अंत से १६ वीं. शताब्दी के आरंभ तक की समयावधि में एक जुलाहा होने के साथ साथ एक प्रसिद्ध संत कवि थे। यह भारत में भक्ति आंदोलन का...
पहाड़ी शैली में राधा कृष्ण

रसिकप्रिया- कवि केशवदास कृत बुंदेली गीत गोविन्द

गीत गोविन्द के नाम से परिचित न हो ऐसा कोई मनुष्य विरले ही होगा। बारहवीं शती में जयदेव कवि द्वारा रचित यह ग्रन्थ श्रृंगार रस स्वरुप का परिचायक है। एक एक अष्टपदी में जिस प्रकार...
सुप्रसिद्ध राम भजन

सुप्रसिद्ध राम भजन जो राम नाम में ओत-प्रोत कर दें

भारत के सर्वाधिक महत्वपूर्ण पर्वों में एक पर्व है दीपावली। दीपावली अर्थात् घरों का रंग रोगन व सजावट, नवीन वस्त्रों की खरीदी, व्यापारियों का नवीन वित्तीय वर्षारंभ, भिन्न भिन्न मिष्टान्न व पक्वान्न, पटाखे, गुलाबी...
पत्तदकल के मंदिर

बादामी, ऐहोले, पत्तदकल – एक कविता, एक प्रेरणा

जब आप पत्थरों पे कवि की कविता लिखी देखते हैं तो कभी कभी उस कविता का कथन इतना प्रभावशाली होता है की आप के अन्दर भी एक कविता फूट पड़ती है। कुछ ऐसा ही...
मोधेरा सूर्य मंदिर

मोढेरा का सूर्य मंदिर

मोढेरा का सूर्य मंदिर कर्क रेखा पे अपने ईष्ट देव की और मुहँ बाये कमल पट्ट पे खड़ा मोढेरा का सूर्य मंदिर पुष्कारणी में माला से गूँथे हैं छोटे बड़े मंदिर जिनकी छवि से हैं खेलते जल जन्तु कच्छ और मच्छ सभा मंडप...
स्वामी श्रध्हानंद मूर्ति - पुरानी दिल्ली

आजकल – दिल्ली पे लिखी एक कविता

आजकल तुम पाओगे मुझे दिल्ली की गलिओं में खाक छानते हुए इधर उधर कूचों में झाँकते हुए सदियों पुराने चबूतरों पे बैठे हुए इस दरगाह से उस मज़ार जाते हुए यहाँ वहाँ बिखरे मक़बरों को ताकते हुए देखते, कल और...

सोशल मीडिया पर जुड़िये

151,298FansLike
6,729FollowersFollow
892FollowersFollow
22,942FollowersFollow
8,650SubscribersSubscribe

लोकप्रिय प्रविष्टियाँ